क्या है स्वराज?


ग्राम सभा और मोहल्ला सभा बनें सबसे ताकतवर
स्थानीय स्तर पर आम लोगों की सभा को सरकारी धन, काम और कार्यकारिणी पर पूरा अधिकार दिए जाने की जरुरत है। शहरी और ग्रामीण इलाकों में ऐसा मंच दिए जाने की जरुरत है जहां लोग मिल बैठ कर सामूहिक रुप से निर्णय ले सकें और जो निर्णय स्थानीय अधिकारियों के लिए बाध्यकारी हो।
हमारी व्यवस्था में मजबूत केंद्र और राज्य सरकारें हैं, जो केंद्र और राज्य स्तर के मुद्दों से निपट सकती है। इसी प्रकार, स्थानीय स्वशासन की तरह स्थानीय मुद्दों पर काम करने के लिए ग्रामीण इलाकों में पंचायत और शहरी इलाकों में नगरपालिकाएं बनाई गई थीं लेकिन सत्ता में आने वाले दल इन संस्थाओं को अपने हिसाब से चलाने लगते है जिससे ये संस्थाएं अपने असली मकसद से भटक गई हैं। Continue reading

Advertisements